आजम खान को एक और झटका, जौहर यूनिवर्सिटी से जमीन वापस लेने पहुंचा प्रशासन

- Advertisement -

सपा के वरिष्ठ नेता और रामपुर सांसद आजम खान की समस्याएं खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं. अब राजस्व बोर्ड के फैसले के बाद जिला प्रशासन ने जौहर यूनिवर्सिटी से जमीन वापस लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी है.

आजम खान को एक और झटका, जौहर यूनिवर्सिटी से जमीन वापस लेने पहुंचा प्रशासन
जौहर यूनिवर्सिटी से वापस ली जा रही है दलितों की जमीन500 एकड़ जमीन पर बनी है मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी
रामपुर से सपा सांसद आजम खान की मुश्किलें खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं. रामपुर में 500 एकड़ जमीन पर बनी आजम खान की मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं. यूनिवर्सिटी के पास मौजूद दलितों की 104 बीघा जमीन को वापस लेने की प्रक्रिया शुरू की जा रही है.
दलितों की जमीन वापस लेने के लिए रामपुर जिला प्रशासन जौहर यूनिवर्सिटी पहुंच चुका है. मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए यूनिवर्सिटी में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है. जिला प्रशासन जमीन की नपाई करवा रहा है.

नियमों की अनदेखी कर ली गई थी दलितों की जमीन

आपको बता दें कि दलितों की इस जमीन को लेकर आरोप लगाया गया था कि यह जमीन नियमों की अनदेखी कर जौहर ट्रस्ट के नाम करवाई गई थी. यहां आपको यह भी बता दें कि जौहर ट्रस्ट के अध्यक्ष सांसद आजम खान ही हैं, इसी वजह से जिला प्रशासन की इस कार्रवाई को उनके रसूख के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है.

राजस्व बोर्ड ने योगी सरकार को दिया था आदेश

दरअसल, प्रयागराज स्थित राजस्व बोर्ड ने योगी सरकार को निर्देश दिया था कि वो आजम खान के विश्वविद्यालय से लगभग 100 बीघा जमीन वापस ले ले. राजस्व बोर्ड कोर्ट के आदेश में कहा गया था कि समाजवादी पार्टी के नेता ने ये 100 बीघा जमीन 12 दलितों से खरीदी है. इस दौरान आजम खान ने यूपी जमींदारी उन्मूलन और भू-सुधार कानून का उल्लंघन किया था. राज्य सरकार की ओर से अदालत के इस आदेश की तामील करने के बाद विश्वविद्यालय क्षेत्र सिकुड़ जाएगा.

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here