मध्य प्रदेश: मंत्री ने शिकायत करने आई महिला सफाईकर्मी को धक्का देकर किया कमरे से बाहर

- Advertisement -


यह घटना तब हुई जब प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल यहां एक स्थानीय होटल में पत्रकार वार्ता कर रहे थे तभी नगर निगम की सफाई कर्मी मुन्नी पटेल रोती हुई अपनी समस्या लेकर वहां पहुंची थी.

मध्य प्रदेश के कैबिनेट मंत्री कमलेश्वर पटेल महिला सफाईकर्मी को धक्का देकर निकालते
मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार के एक कैबिनेट मंत्री ने किया महिला को बाहर
इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ है.
घटना के समय ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल पत्रकार वार्ता कर रहे थे
रीवा: मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार के एक कैबिनेट मंत्री ने बुधवार को पत्रकार वार्ता के दौरान उनसे शिकायत करने आई महिला सफाईकर्मी को कथित तौर पर धक्का देकर कमरे से बाहर कर दिया. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ है. यह घटना तब हुई जब प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल यहां एक स्थानीय होटल में पत्रकार वार्ता कर रहे थे तभी नगर निगम की सफाई कर्मी मुन्नी पटेल रोती हुई अपनी समस्या लेकर वहां पहुंची थी. दरसअल इस महिला की ड्यूटी पूर्व में पार्क के देख-रेख में लगाई गई है जिसे अब बदल दिया गया है. इस समस्या का समाधान कराने के लिए महिला पटेल से मिलने आई थी. उस वक्त मंत्री के साथ जिला कलेक्टर सहित जिले के आला-अफसर भी मौजूद थे.

इससे पहले राज्य के एक मंत्री ने पार्टी के ही एक किसान नेता को अपने कमरे से बाहर निकलवा दिया था. इस घटना का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ था. वीडियो में राज्य किसान कांग्रेस के महासचिव शैलेंद्र वर्मा हरदा में किसी बात की शिकायत लेकर राज्य सरकार में मंत्री पीसी शर्मा के पास गए थे. वीडियो में दिखता हैं कि उन्होंने कुछ कागज दिखाए और उसके थोड़ी ही देर बाद मंत्री जी ने तेज से दुत्कार दिया. इस पर शैलेंद्र ने कहा, ‘आप ऐसे नहीं चिल्ला सकते हैं’. लेकिन मंत्री जी का रुख देखते ही वहां मौजूद सुरक्षाकर्मी उनको धक्का देकर बाहर ले जाने लगते हैं. इसी बीच शैलेंद्र वर्मा चिल्लाते रहे… मेरे साथ अन्याय हो रहा… ‘मुझे मार क्यों रहे हो… पीसी शर्मा हाय-हाय…’ लेकिन उनकी पूरी बात वहां मौजूद किसी ने भी नहीं सुनी.
CAA पर फिलहाल रोक से SC का इनकार, CJI ने कहा- एकतरफा रोक नहीं लगा सकते

बाद में शैलेश वर्मा ने आरोपी लगाया, ‘मंत्री जी ने मुझे डांटा और जेल में बंद करने को कहा. आप सरकार का हिस्सा हैं. आप से उम्मीद है कि हमारे मुद्दे सुनें. मैं किसान कांग्रेस का महासचिव हूं और वह मेरे साथ कैसे व्यवहार कर रहे हैं’. यह पूरी घटना हरदा के कलेक्ट्रेट ऑफिस में हुई थी. हालांकि बाद में आई मीडिया रिपोर्ट में कहा गया था कि शैलेश वर्मा पर मंत्री जी से तेज आवाज में बात की थी.
मध्य प्रदेश: माफियाओं पर कार्रवाई में राजनीतिक मोड़

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here