खबरों की खबर यानी न्यूज़ टू न्यूज़। आज इस पड़ताल में हम आपको बताएंगे कि खबरों की खबर क्या है? देखें इस रिपोर्ट में

- Advertisement -

खबरों की खबर यानी न्यूज़ टू न्यूज़।
आज इस पड़ताल में हम आपको बताएंगे कि खबरों की खबर क्या है? देखें इस रिपोर्ट में

आपने सारे न्यूज़ चैनल,अखबार मैगजीन, पोर्टल, ऑनलाइन न्यूज़ व डिजिटल मीडिया पर बहुत सारी खबरें देखी होंगी लेकिन आपने खबरों की खबर नहीं देखी होगी।
खबरों की खबर क्या है?
और इन खबरों को कैसे बनाया जाता है?
हम आपको बताएंगे इस रिपोर्ट में –
आपने ढेर सारी खबरें देखी हैं जो राजनीति की होती है, चुनाव की होती हैं , स्वास्थ्य की होती हैं क्राइम की होती हैं , प्रशासन की होती हैं , शासन की होती हैं , देश की होती हैं, विदेश की होती है , प्रदेश की होती हैं, राष्ट्रीय होती है , अंतरराष्ट्रीय होती हैं। समस्याएं होती हैं, मुद्दे होते हैं ढेर सारे लेख भी आपने देखे होंगे लेकिन ऐसी खबर की खबर आपको देखने नही मिलती है आपको खबरों की खबर ।
जी हां हम बात कर रहे हैं खबरों की खबर यानी की ।
आपने कभी भी न्यूज़ चैनल ,अखबार, मैगजीन पत्रकारों की खबरें कम देखी होंगी और हमारे इस कॉलम में खबरों की खबर में आपको किस न्यूज़ चैनल में कौन से पत्रकार को कितनी सैलरी मिलती है?
किस चैनल का मालिक कौन है ?किस अखबार का मालिक कौन है? किस अखबार की चैनल के मालिक नोटिस , न्यूज़ चैनल अखबार छोड़ दिया है और भी खबरें जो मीडिया से ताल्लुक रखती है जो मीडिया से संबंधित है। मीडिया की चीजों को बढ़ाते हैं मीडिया की बातों को आगे बढ़ाते हैं उन पर क्या रहता है ?राजनेताओं की, किसान की व मजदूर की खबर आपको सुनने मिलती है लेकिन पत्रकार खबरें नही मिलती है ।
यह कॉलम में पत्रकारों की समस्याएं मुद्दे को उठाने के लिए कॉलम बनाया गया है आपको ढेर सारी खबरें हम जरूर बताएंगे ।इस कॉलम में आप अपनी राय हमें आप जरूर दें कि आपको लगता है कि ऐसी खबरें प्रकाशित की जाए।
अगर हां तो आप अपना नाम पता हमें जरूर भेजें और पत्रकार साथी इस कॉलम को ज्यादा से ज्यादा शेयर भी जरूर करें।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here