टैक्सी ड्राइवर के मर्डर की हैरान करने वाली मिस्ट्री

- Advertisement -

पुलिस ने जो बताया उसके मुताबिक घटना कुछ ऐसी है. एक नाबालिग ने फेसबुक पर एक ग्रुप बनाया- ‘जिसका कोई नहीं उसका मैं हूं.’  इस ग्रुप से चार लोग और जुड़े, जिनमें एक नाबालिग था. बाकी तीन की पहचान है- हिमाचल प्रदेश के बद्दी का रहने वाला 26 वर्षीय पवन गुप्ता, मुंबई का रहने वाला 18 वर्षीय रोहित सेठ और कोलकाता का रहने वाला 19 वर्षीय सुशांतो. पवन गुप्ता बद्दी में सिक्योरिटी गार्ड और सुशांतो कोलकाता में ड्राइवर के तौर पर काम कर रहा था.

पंचकूला डीसीपी कमलदीप गोयल ने बताया कि जिस नाबालिग ने फेसबुक ग्रुप बनाया था वो पवन गुप्ता से पहले एक दो बार मिला था. लेकिन बाकी सभी एक दूसरे से अनजान थे.

दो नाबालिगों समेत इन पांचों ने रातोंरात अमीर बनने के लिए अपराध का रास्ता चुनने का फैसला किया. इसके लिए पांचों ने पहले बद्दी, हिमाचल प्रदेश में मिलने का फैसला किया. 8 सितंबर को सुशांतो को छोड़ कर चारों बद्दी में मिले. कोलकाता से आने की वजह से सुशांतो को आने में देर हुई.

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here